Local News and Events

No Doctor Community in Health Center Grota

Health Center Grota

संस, घरोटा : सेहत विभाग की ओर से सरकारी अस्पतालों में एलोपैथी के अतिरिक्त आर्युवैदिक व होम्योपैथी उपचार की सुविधा भी आरंभ की गई थी जिसके अच्छे परिणाम भी देखने को मिले थे।
इस श्रृंखला में कम्युनिटी हेल्थ सेंटर घरोटा में विभाग की ओर से शुरू किया गया होम्योपैथिक ¨वग आरंभ होने के कुछ महीने उपरान्त ही आखिर दम तोड़ गया है।
होम्योपैथिक डॉक्टर व फार्मासिस्ट की ट्रांसफर के उपरान्त से यह ¨वग बंद पड़ा है।
विभाग की ओर से डाक्टर व स्टाफ को पुन: नियुक्त न करने के चलते करीब 4 वर्ष से होम्योपैथी प्रणाली से ईलाज के इच्छुक मरीजों को ईलाज करवाने के लिए शहरों में भटकने को बाध्य होना पड़ रहा है।
जिसके चलते ब्लाक के दर्जनों गांवों के लोगों में विभागीय कार्यप्रणाली को लेकर गहरा रोष व्याप्त है।
गौरतलब है कि पूर्व सेहत मंत्री लक्ष्मीकांत चावला की ओर से अपने कार्यकाल के दौरान राज्य के लोगों को बढि़या स्वास्थ्य सुविधाएं उपलब्ध करवाने के लिए एक छत के नीचे तीनों प्रणाली की ईलाज सुविधा शुरू की गई थी।
जिसके चलते प्रथम चरण में कुछ अस्पतालों में एलोपैथी के अतरिक्त होम्योपैथी तथ कुछेक में आर्युवैदिक ¨वग स्थापित किए गए थे।
इस तर्ज पर जिला पठानकोट के ब्लाक घरोटा के कम्युनिटी हेल्थ सेंटर में होम्योपैथिक ¨वग आरंभ किया गया था।
यहां पर विभाग की ओर से एक डाक्टर के अतिरिक्त एक डिस्पेंसर को नियुक्त किया गया था। जिससे लोगों में होम्योपैथी से ईलाज करवाने के रूझान में वृद्धि हुई थी।

Leave a Comment