Pathankot City



समर सीजन की पहली ओपीडी-35 में से 31 डॉक्टर डेढ़ से दो घंटे लेट पहुंचे

Local News and Events

first-opd-35-of-the-summer-season

समर सीजन की पहली ओपीडी-35 में से 31 डॉक्टर डेढ़ से दो घंटे लेट पहुंचे, रजिस्टर में 8 के सिग्नेचर सेम हैंडराइटिंग में

शुक्रवार से सिविल हास्पिटल में ओपीडी टाइम सुबह 8 बजे से था लेकिन अस्पताल के करीब 35 डाॅक्टरों में से 4 ही समय पर पहुंचे बाकी ज्यादातर 9 बजे से लेकर 10.30 बजे तक पहुंचे। डाॅक्टरों के कमरों के बाहर मरीज उनका इंतजार करते रहे। नशा छुड़ाओ केंद्र की प्रभारी तथा मनोचिकित्सक डाॅ.सोनिया मिश्रा तो 10.30 बजे अस्पताल पहुंचीं। अधिकारियों का कहना है कि वे अक्सर ऐसे ही करती हैं और उनके खिलाफ शिकायतों का भी कोई असर नहीं है। पिछले दिनों विधायक अमित विज ने भी अस्पताल का औचक निरीक्षण किया तो कई डाक्टर सीट पर नहीं मिले थे जिसमें डा.सोनिया प्रमुख थीं। हैरानी की बात यह है कि एसएमओ रूम में रखे अटेंडेंस रजिस्टर पर 8.18 बजे ही 8 उन डाॅक्टरों के भी सिग्नेचर किए गए थे जो अब तक पहुंचे ही नहीं थे। ये सभी सिग्नेचर एक ही हैंड राइटिंग में थे।

सुबह 8 बजे से पहले दिन की ओपीडी का रियलिटी चेक किया तो वहां होम्योपैथी डाॅक्टर ओपी विग, आई स्पेशलिस्ट डाॅ. नेहा, डा.अमनज्योति, डा.अभय गर्ग पहुंचे थे। थोड़ी देर बाद कार्यकारी एसएमओ डाॅ.सुनील भी पहुंचे। इसके अलावा सभी डाक्टरों के ओपीडी कमरे खुले थे लेकिन सीटें खाली थीं। ओपीडी की पर्ची कटवाकर मरीज डाक्टरों के चैंबर्स के बाहर उनका इंतजार करते दिखे। मनोरोग विशेषज्ञ डाॅ.सोनिया, हडि्डयों के डाक्टरों के रूम के बाहर, आखों के डाॅक्टरों के कमरे और मेडिकल स्पेशलिस्ट डाॅ. इंद्रराज और अशोक ढिल्लो, ईएनटी और सर्जन के रूम के बाहर बड़ी संख्या में मरीज 8.30 बजे तक पहुंच गए और डाक्टरों का इंतजार करते रहे। सभी डाक्टर 9.15 बजे के बाद आने तब शुरू हुए जबकि अस्पताल से कई कर्मियों के फोन उन्हें पहुंचने लगे।

कोविड सेंटर पर 10 बजे तक कोई नहीं पहुंचा

लमीनी निवासी शशिकांत का कहना है कि उसका हिमाचल में सप्लाई का काम है। हिमाचल जाने के लिए कोरोना का टेस्ट जरूरी है। वह वीरवार दोपहर 3 बजे सिविल में कोरोना का टेस्ट करवाने गया था तो उसे कह दिया गया कि 3 बजे के बाद टेस्ट नहीं होते। वह शुक्रवार सवेरे 8 बजे कोरोना का आरटीपीसीआर टेस्ट के लिए आया तो 9 बजकर 45 मिनट तक काउंटर पर कोई टेस्ट करने वाला नहीं है जिसके चलते वह 2 घंटे से इंतजार कर रहा है। जंदरिया मोहल्ला निवासी महिला कांता ने बताया कि उसे डाक्टरों ने कोविड का टेस्ट करवाने को कहा है। वह शुक्रवार सवेरे 8 बजे से कोविड का टेस्ट करवाने के लिए काउंटर के बाहर डेढ़ घंटे से बैठी है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.


0 Comments


    Copyright © 2021 About Pathankot | Website by RankSmartz (open link)