Pathankot City



शिवाला चटपट वनी मंदिर में उमड़ी भक्तों की भीड़

Local News and Events

despite-the-suspicious-looks-shiva

दो दिन पहले शिवाला चटपट वनी शिव मंदिर में दो संदिग्ध को देखे जाने के बावजूद भक्तजनों के हौसले बुलंद रहे। मंदिर में वीरवार को माथा टेकने के लिए हजारों की तादाद में भक्तों ने हाजिरी भरी। सुबह 3 बजे ही भक्तों की ओर से मंदिर में माथा टेकना शुरू कर दिया गया था। इसी के मद्देनजर पुलिस ने भी सुरक्षा प्रबंधों को कड़ा कर दिया। मंदिर में प्रवेश करने के मुख्यद्वार पर मैटल डिटेक्टर लगाए गए, ताकि कोई भी संदिग्ध कोई हथियार इत्यादि लेकर मंदिर तक प्रवेश न कर पाए। इसके अतिरिक्त मंदिर के बाहर बख्तरबंद गाड़ियां लगाकर पुलिस जवान तैनात रहे, ताकि किसी भी तरह की कोई असामाजिक घटना होने पर इसे तुरंत रोका जा सके। मंदिर में बिना वर्दी पुलिस जवानों के साथ महिला पुलिस कर्मचारियों की भी तैनाती की गई, ताकि संदिग्धों पर नजर रखी जा सके। मंदिर प्रांगण तक किसी भी वाहन को आने पर पूरी तरह से रोक लगा दी गई थी। सभी वाहनों को मंदिर से काफी दूरी पर बाहर ही पार्क करवाया गया। जहां से भक्तजन पैदल ही मंदिर प्रांगण तक पहुंचे।

युवाओं की लगाई थी ड्यूटी

मंदिर कमेटी के मुख्य भक्तजन बाबा शंकर नाथ, प्रधान बलकार ठाकुर, लाल चंद कटारुचक्क,हरदयाल सिंह तथा भूपेंद्र सिंह ने बताया कि वनी मंदिर में माथा टेकने आने वाले श्रद्धालुओं की संख्या लगातार बढ़ रही है। भक्तजनों ने बढ़चढ़ कर मंदिर में नतमस्तक होकर भगवान शिव का आशीर्वाद लिया। उन्होंने बताया कि इसके अतिरिक्त कमेटी की ओर से युवाओं की भी ड्यूटी लगाई गई थी कि माथा टेकने आने वाले सभी को लाइनों में लगवाकर आराम से दर्शन करवाए जाएं। इसके अतिरिक्त यदि कोई संदिग्ध दिखता है तो तत्काल इसकी सूचना पुलिस को दी जाए। उन्होंने कहा कि पुलिस प्रशासन की ओर से पूर्ण सहयोग दिया गया है।

सुरक्षा को लेकर ही किए गए थे प्रबंध : एसएसपी

एसएसपी गुलनीत खुराना ने कहा कि पुलिस की ओर से सुरक्षा को लेकर ही प्रबंध किये गए थे। उन्होंने कहा कि इसके अतिरिक्त पुलिस ने अन्य मंदिरों में भी पूरी तरह से सतर्कता बरती। एसएसपी ने कहा कि जिन दो हाजी व मौलवी को उक्त क्षेत्र में देखा गया था, सूचना है कि वे जम्मू कश्मीर के पुंछ एरिया में वापस जा चुके हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *


0 Comments


    Copyright © 2023 About Pathankot | Website by RankSmartz (open link)