News and Events Pathankot

दादर और छत्तीसगढ़ एक्सप्रेस को पठानकोट से चलाने की योजना

पठानकोट से चलाने की योजना
दादर और छत्तीसगढ़ एक्सप्रेस को पठानकोट से चलाने की योजना

दादर एक्सप्रेस व छत्तीसगढ़ एक्सप्रेस को पठानकोट शिफ्ट करने का प्रपोजल रेलवे तैयार कर लिया है। अगले कुछ महीनों में इस पर काम शुरू होने की उम्मीद है। इससे पठानकोट से मुबंई और बिलासपुर की ओर यात्रा करने वाले यात्रियों को फायदा होगा। जिले के उद्यमियों व कारोबारियों को भी इसका काफी लाभ मिलेगा। इतना ही नहीं अमृतसर रेलवे स्टेशन पर वा¨शग लाइन की कमी को देखते हुए कुछ ट्रेनों को भगतवाला व छेहरटा में भी शिफ्ट किया जाएगा।

देश के विभिन्न राज्यों से अमृतसर के लिए रोजाना अप-डाउन 90 से अधिक ट्रेनों का आवागमन होता है। ट्रेनों के लगातार बढ़ते दबाव के कारण इनका समय पर संचालन करवाना रेलवे के लिए लगातार चैलेंज होता जा रहा है। कारण, स्टेशन पर केवल पांच प्लेटफार्म और दो वा¨शग लाइनें हैं, जो कम हैं। ट्रेनों की सही प्रकार से मेंटीनेंस करवाकर उन्हें समय पर भेजने का अधिकारियों पर लगातार दबाव बढ़ता जा रहा है। इसी बात को ध्यान में रखते हुए फिरोजपुर रेल मंडल की ओर से जहां दादर और छत्तीसगढ़ एक्सप्रेस को पठानकोट शिफ्ट करने की योजना है, वहीं कुछेक ट्रेनों को मेंटीनेंस के लिए भगतावाला व छेहरटा भेज कर समस्या का समाधान किया जाएगा। स्थानीय अधिकारियों का कहना है कि अमृतसर रेलवे स्टेशन पर नई वा¨शग लाइन बनाने के लिए उचित स्थान नहीं है और न ही प्लेटफार्म को बढ़ाया जा सकता। हालांकि पैसेंजर ट्रेनों को मुख्य प्लेटफार्म की बजाय 1 ए से चलाकर काम चलाया जा रहा है। पठानकोट के लोगों की सात वर्षो से लंबित मांग होगी पूरी फिरोजपुर रेल मंडल के अधिकारियों का मानना है कि ऐसा करके जहां सभी ट्रेनों को समय पर भेजना भी आसान हो जाएगा, वहीं पठानकोट के लोगों की पिछले सात वर्षों से नई ट्रेन देने की मांग भी पूरी हो जाएगी। स्थानीय अधिकारियों का कहना है कि पठानकोट में वाशेबल एप्रेन है। वाशिंग लाइन के लिए यहां सिर्फ प्वाइंट लगाना है। वाशिंग लाइन होने पर शिफ्ट की जाएंगी ट्रेनें : जयतोष शुक्ला

फिरोजपुर रेल मंडल के सीनियर डीओएम (डिवीजनल ऑपरेटिंग मैनेजर) जयतोष शुक्ला से बात की तो उन्होंने कहा कि इंटरलॉकिंग कार्य शुरू होने पर अमृतसर की कुछ ट्रेनों को भगतांवाला व छेहरटा शिफ्ट करना पड़ेगा। पठानकोट में दो ट्रेनों को शिफ्ट करने संबंधी सवाल पर उनका कहना है कि वहा जो वाशेबल एप्रेन है, उस पर ट्रेनों की मेंटीनेंस नहीं की जा सकती। जब वाशिग लाइन होगी, तब यकीनन ट्रेनों को शिफ्ट किया जाएगा, क्योंकि लंबी दूरी की ट्रेनों के लिए वाशिग लाइन का होना जरूरी है।

Leave a Comment