आजादी के 7 दशक बाद भी गांव बस्सी बहलादपुर में नहीं हैं सुविधाएं

हलके के गांव बस्सी बहलादपुर आजादी के सात दशक बीत जाने के बाद भी मूलभूत सुविधाओं से वंचित है। दो बस्तियां बस्सी अफगाना व वहलादपुर का यह गांव घरोटा ब्लॉक के अंतर्गत पड़ता है। समय की सरकारों की लंबे अर्से से अनदेखी के कारण इस गांव में समस्याओं की भरमार है। बस्सी बहालदपुर सेम ग्रस्त गांव है। ऐसे में यहां के किसान सिर्फ धान ही ले पाते हैं। जिस से किसान परेशान है। दयनीय हालात के चलते कर्जे के मकड़जाल में बुरी तरह फंसे हैं।

वही गांव में पीने के पानी की उचित व्यवस्था का अभाव है। एक बस्ती में तो नाममात्र पानी पहुंच पाता है। जबकि दूसरी बस्ती के लोग पीन वाले पानी को लेकर भटकते रहते हैं। हैंड पंप के पानी का स्तर ऊपर होने के कारण पीने योगय नहीं है। वहीं गांव में पक्की सड़क के ना होने से गांव के लोगों को वर्षा के दिनों में कीचड़ से गुजरना पड़ता है।

गांव का जंझघर भी अनदेखी का शिकार

गांव गंदगी का ढेर व पशुओं का चरागाह बना हुआ है। गंदे पानी का निकास न होने की समस्या के कारण लोगों का जीना मुश्किल हो रहा है।

बस सेवा शुरू करने की मांग

लोगों ने पठानकोट सरना- घरोटा वाया फरीदानगर बस्सी बस सेवा आरंभ करने की गुहार लगाई है। जिससे लोगों की यातायात समस्या का समाधान हो सके। उधर गांववासी भू¨पद्र ¨सह, र¨जद्र कुमार, बिट्टू ठाकुर, मास्टर राम कृष्ण, मास्टर अजीत ¨सह, ¨मटू ¨सह, अशोक ¨सह ने कहा की सरकारों को गांव के विकास की ओर देखने की जरूरत भी है।

गांव का होगा सर्वपक्षीय विकास : पंकज महाजन

काग्रेंस नेता पंकज महाजन ने कहा कि वह गांव की समस्याओं को हलका विधायक जो¨गद्र पाल के ध्यान में ला चुके हैं। जल्द ही गांव के कायाकल्प हेतु मास्टर प्लान के अनुसार कार्य करवाया जाएगा।

Share This:

REVIEWS

    Leave a Reply

    Your email address will not be published. Required fields are marked *

    + 16 = 17